अंकल ने कपड़े फाड़कर चोदा

प्रेषक : श्वेता शाह …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम श्वेता है और मेरी उम्र 19 साल है। में हमेशा से थोड़ी चुलबुली थी और में दिखने में एकदम गोरी हूँ। मुझे बचपन से स्लीव लेस और टाईट कपड़े पहने में शर्म आती थी, लेकिन 4 महीने पहले मेरी दोस्त रिंकू और फ़िज़ा ने मुझसे बोला कि तू ब्यूटिफुल है और लड़के तुझे तभी पसंद करेगें जब तू थोड़े कम कपड़े पहनेगी, लेकिन मुझे तो शर्म आती थी। तभी एक दिन फ़िज़ा ने मुझे स्लीव लेस  टॉप दिया और बोली कि पीछे वाली सुनसान गली जहाँ बहुत कम लोग रहते है, वहाँ कुछ देर स्लीव लेस  पहनकर तू घूम अगर कोई लड़का तुझे देखेगा तो समझ जाना कि वो तुझमें इंट्रेस्टेड है। फिर पहले तो में नहीं मानी, लेकिन फिर सोचा कि एक बार कोशिश करती हूँ।

फिर मैंने उस गली में जाकर एक दीवार के पीछे टॉप बदली और फिर रिंकू ने मुझे उस गली में जाने को बोला। अब मुझे बहुत अजीब लग रहा था, वो एकदम खाली जगह थी और वहाँ कोई नहीं था। तो मैंने सोचा कि यहाँ कोई फायदा नहीं है और फिर में जाने लगी। तभी मैंने देखा कि ऊपर की खिड़की से एक थोड़े बूढ़े अंकल मुझे घूर रहे है, उन अंकल के बाल सफ़ेद थे और वो बिना शर्ट पहने खड़े थे, उनकी पूरी बॉडी पर बाल थे। अब वो मुझे काफ़ी अजीब नज़र से देख रहे थे मानो वो कुछ कर देगें, फिर में वहाँ से जाने लगी और जल्दी से जा कर रिंकू को सब कुछ बताया। अब रिंकू यह सुनकर बोली कि वो तो अंकल है, उनको तू अच्छी लगी मतलब सब लड़को को भी अच्छी लगेगी। अब में यह सुनकर खुश हो गई और मैंने सोचा कि में कुछ दिन बाद वापस वो स्लीव लेस टॉप पहनकर उस अंकल के सामने जाउंगी।

फिर क्या था? फिर में अगले दिन अकेले ही एक वैसा ही टॉप पहनकर वहाँ गई, तो वो अंकल वही खिड़की पर ही खड़े थे और मुझे देखते ही वो वापस एकदम से मुझे घूरने लगे। तो में वहाँ ही रुक गई और ऊपर देखकर मुस्कुराई और जवाब में अंकल भी मुस्कुराए और उनके मुँह से वो गंदी वाली फिलिंग चली गई। फिर उन्होंने बड़े प्यार से मेरा नाम पूछा तो मैंने उन्हें अपना नाम श्वेता बताया। फिर अंकल ने प्यार से मुझसे बातें की, तो अब मुझे लगने लगा की अंकल बहुत अच्छे आदमी है। फिर उन्होंने मुझे अपने घर पर बुलाया, लेकिन में उनके घर पर नहीं गई और बोली कि अंकल आज मुझे जाना है में  फिर किसी दिन आ जाउंगी। तो बेचारे अंकल बोले कि बेटा मेरी बेटी से मिल लो, लेकिन में उनके घर नहीं गई। तो वो बोले कि आप तो मुझे दोस्त ही नहीं मानती हो और फिर में वहाँ से चली गई। लेकिन उस रात मुझे बहुत बुरा लगा कि वो इतनी प्यार से मुझे अपनी बेटी से मिलने बुला रहे थे और में नहीं गई। फिर मैंने सोचा कि मैंने कितना बुरा किया है और में कल अंकल से सॉरी बोलने उनके घर जाउंगी।

फिर अगले दिन मैंने स्लीव लेस टॉप नहीं पहना और फिर में उनके घर गई और डोर बेल बजाने पर अंकल ने डोर खोला। अब वो पहले दिन की तरह बिना शर्ट के खड़े थे, अब पहले तो वो एकदम चुप खड़े थे लेकिन फिर हंसकर उन्होंने मुझे अंदर बुलाया। अब में अंदर जाते ही बोली कि अंकल आई एम सॉरी में कल आपके बुलाने पर भी मिलने नहीं आई। तभी अंकल ने अचानक से मेरा हाथ पकड़ लिया और बोले कि कोई बात नहीं श्वेता। फिर मैंने अपना हाथ छुड़ाया और मैंने उन्हें बोला कि आपकी बेटी नहीं है? तो अंकल ने मेरी बात पर ध्यान नहीं दिया और बोले कि तुम कुछ लोगी? तो मैंने बोला कि आप पानी दे दीजिए और फिर वो अंदर पानी लेने गये। उनका घर बड़ा अजीब सा था, थोड़ा पुराना फर्निचर और एक पुरानी टी.वी और घर भी एकदम गंदा और पुराना था। अब में थोड़ी सी घबराई और तभी अंकल पानी लेकर आए और बोले कि आज तूने वैसे कपड़े नहीं पहने स्लीव लेस वाले। तो में बोली कि नहीं, तो वो बोले कि तू उसमें बहुत सेक्सी लगती है।

अब में और घबराने लगी और जाने लगी, तो अंकल बोले कि आओ अंदर आ कर मेरी बेटी से तो मिल लो। अब में जल्दी से वहाँ से जाना चाहती थी इसलिए में बोली कि ठीक है अंकल में आपकी बेटी से मिलकर जाउंगी। फिर जब में अंदर गई तो मैंने देखा कि अंदर बस एक पुराना सा बेड है और अब में पीछे मुड़कर जाने लगी, तो अंकल ने डोर बंद कर दिया और फिर में समझ गई कि अब अच्छा नहीं होगा। फिर तभी अंकल ने अपनी पेंट उतार दी, तो मैंने बोला कि अंकल आप यह क्या कर रहे हो? तो अंकल बोले कि श्वेता तू जानती नहीं कि तुझे देखते ही मेरा मन मचल गया और अब तो में अपनी प्यास बुझा के रहूँगा। अब में बहुत डर गई थी और बोली कि अंकल प्लीज़ ऐसा कुछ मत करना। अब अंकल एकदम नंगे खड़े थे और बोले कि चल चुपकर और अपने कपड़े उतार, तू स्लीव लेस में इतनी अच्छी लगती है तो नंगी कितनी अच्छी लगेगी।

फिर मैंने बोला कि अंकल प्लीज़ मुझे जाने दो और में रोने लगी, लेकिन अंकल ने मेरी एक नहीं सुनी और मेरे पास आ कर मेरे कपड़े फाड़ने लगे। अब में उनसे छूटने की कोशिश करने लगी, लेकिन वो बहुत पॉवरफुल थे और उन्होंने मेरा टॉप निकाल दिया। अब में डर के मारे कुछ बोल भी नहीं पा रही थी, फिर उन्होंने मेरी ब्रा खींचकर निकाल दी और मेरे स्तन पर ज़ोर से काट लिया और मुझे ज़मीन पर गिरा दिया। अब में रोने से ज़्यादा कुछ नहीं कर पा रही थी, अब में बहुत ज्यादा डर गई थी। अब वो अंकल मेरे शरीर पर किस पर किस ले रहे थे और मुझे चाट रहे थे। अब मुझे उनकी बॉडी से बहुत गंदी बदबू आ रही थी और फिर उन्होंने मेरे हाथ ऊपर उठाए और मेरे बगल को चाटने लगे और बोले कि कसम से इतनी स्वाद वाली चीज़ पहले नहीं चखी। तो अब में रोते हुए बोली कि अंकल प्लीज़ मुझे जाने दो।

फिर उन्होंने अपना बड़ा सा लंड दिखाकर बोला कि श्वेता मेरी जान अब में तुझे कली से फूल बनाऊंगा। तो में डर के मारे उन्हें धक्का देने लगी, तो उन्होंने मुझे बहुत ज़ोर से थप्पड़ मारा और बोले कि रुक साली रंडी अब तुझको बताता हूँ और उन्होंने ज़बरदस्ती मेरी जीन्स और पेंटी उतार दी। अब में शर्म से पानी-पानी हो गई थी और फिर उन्होंने मेरा पूरा सत्यानाश कर दिया। फिर उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में घुसाने की कोशिश की, तो मुझे लगा कि इतना बड़ा लंड मेरी चूत में अंदर घुस नहीं पायेगा, लेकिन फिर उन्होंने अपने लंड पर थूक लगाकर अपना पूरा लंड मेरी चूत के अंदर डाल दिया, तो में दर्द के मारे चीख पड़ी कि मानो किसी ने मेरी जान ही निकाल दी हो। अब में दर्द से नीली पड़ गई और मेरी आँखो के सामने अंधेरा सा छा गया था, लेकिन वो फिर भी ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड मेरी चूत के अंदर डालने लगे। अब में उनसे भीख माँग रही थी, लेकिन उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी और 10 मिनट तक यही सब करते रहे। अब में हार चुकी थी, अब में दर्द से मर रही थी और लास्ट में उन्होंने अपना सफ़ेद-सफ़ेद पानी मेरी चूत के अंदर ही निकाल दिया। अब मुझे बहुत गंदा लग रहा था और में अभी भी रो ही रही थी।

फिर अंकल 2 मिनट रुके और वापस मेरी बगल को चाटने लगे और हांफते हुए बोले कि मज़ा आ गया। अब में रोती रही और वो अंकल उठकर बाहर चले गये। अब में बेहोश हो गई थी और कुछ देर के बाद जब मुझे होश आया तो में उठी। लेकिन अब में दर्द से चल भी नहीं पा रही थी और अपने कपड़े पहनकर बाहर जाने लगी, तो मैंने देखा कि अंकल दारू पीकर हॉल में नंगे पड़े थे। फिर में किसी तरह से अपने घर पहुँची और अपने आपको संभाला, लेकिन मैंने घर पर किसी को कुछ भी नहीं बताया।  फिर जब में नहाने गई तो मैंने देखा कि मेरे पूरे जिस्म पर चोट थी, अब मेरी चूत पर खून लगा था और बगल और बूब्स पर बहुत खरोचें थी। अब में बुरी तरह से डर गई थी, अब में ना किसी से मिलती हूँ और ना किसी से ज़्यादा बात करती हूँ। फिर मैंने यह बात सिर्फ़ रिंकू को बताई है, तो वो भी चौंक गई। फिर उसने बोला कि अब तुझे बच्चा होगा, क्योंकि उस गंदे अंकल ने तेरे साथ सेक्स कर दिया है, अब में बहुत डर चुकी हूँ ।।

धन्यवाद …


Source: http://www.kamukta.com/feed/

You might also like More from author

Comments are closed.